Latest News
News

पहली बार IITs की सभी सीटें फुल

August 3, 2019

साल 2013 से अब तक में पहली बार हुआ है कि देश के सभी IITs में अंडरग्रेजुएट की एक भी सीटें खाली नहीं रही|कुल 23 IIT कॉलेज हैं जिनमे अंडरग्रेजुएट की 13,604 सीटें हैं|
2018 में, 118 खाली सीटें 2017 में 110 सीटें, 2016 में 96 सीटें, 2015 में 32 सीटें, 2014 में तीन सीटें और 2013 में 149 सीटें खाली रह गई थीं।

सूत्रों के अनुसार,आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्रों (लगभग 620) के लिए निर्धारित सीटें भी भरी जा चुकी हैं।

इस बीच, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग(UGC) ने 20 इंस्टीट्यूशन ऑफ एमिनेंस (IOE) की
नई सूची जारी की है|जिनमे 10 पब्लिक और 10 प्राइवेट इंस्टिट्यूट शामिल है|पब्लिक यूनिवर्सिटी में आईआईटी-बॉम्बे और आईआईटी-दिल्ली को इंस्टीट्यूशन ऑफ एमिनेंस (IOE) का दर्जा दिया गया। वहीं इस सूची में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (IISc) और प्राइवेट इंस्टिट्यूट BITS-पिलानी, मणिपाल एकडेमी ऑफ़ हायर एजुकेशन और Jio इंस्टिट्यूट को जगह मिली है।

जिन संस्थानों को पब्लिक केटेगरी से IoE का दर्जा दिया गया है, उनमें IIT बॉम्बे, IIT दिल्ली, IISC बैंगलोर, IIT मद्रास, IIT खड़गपुर, दिल्ली यूनिवर्सिटी , हैदराबाद यूनिवर्सिटी और BHU शामिल हैं।

IoE स्टेटस के लिए अनुशंसित प्राइवेट इंस्टीटूट्स में BITS पिलानी, मणिपाल एकडेमी ऑफ़ हायर एजुकेशन, Jio इंस्टिट्यूट (Reliance Foundation, Maharashtra), अमृता विश्व विद्यापीठम, बैंगलोर, VIT वेल्लोर, जामिया हमदर्द, कलिंगा इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी, ओपी जिंदल यूनिवर्सिटी, शिव नादर विश्वविद्यालय, और भारती (सत्य भारती फाउंडेशन) शामिल है।

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter