Latest News
News

डीआरडीओ ने भारतीय सेना को मोबाइल मेटैलिक रैंप(MMR) का डिजाइन सौंपा

August 21, 2019

डिफेन्स रिसर्च एंड डेवलपमेंट आर्गेनाईजेशन (डीआरडीओ) ने आर्मर्ड और यांत्रिक दस्ते
के साथ-साथ आर्मी के फार्मेशन की सामरिक गतिशीलता के लिए मोबाइल मेटालिक रैम्प (MMR) का डिजाइन मंगलवार को सेना को सौंप दिया।


70 मीट्रिक टन (MT) की भार वहन क्षमता वाले MMR को सेंटर फॉर फायर, एक्सप्लोसिव एंड एनवायरमेंट सेफ्टी (CFEES), DRDO के प्रमुख रिसर्च सेंटर द्वारा डिजाइन और विकसित किया गया है।

आर्म्ड फाइटिंग व्हीकल (एएफएस) को युद्ध के लिए इकट्ठा करने के स्ट्रैटिजिक मोबिलिटी टाइम को कम करने के लिए सेना के आवश्यकताओं पर इसे डिजाइन और विकसित किया गया है|

रक्षा विभाग के आरएंडडी के सचिव और डीआरडीओ के चेयरमैन डॉ. जी. सतीश रेड्डी, ने एमएमआर का डिजाइन उप सेना प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अनबू को सौंपा।

भारत की सबसे पुरानी मॉडर्न यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी
भारत की सबसे पुरानी आधुनिक यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter