Latest News
News

MIT Study:अपर्याप्त नींद आपके कॉलेज के ग्रेड को प्रभावित कर सकती है:

October 4, 2019

एक अध्ययन में शोधकर्ताओं ने छात्रों के ग्रेड और उनके सोने के समय के बीच मजबूत संबंध पाया है।किस समय छात्र बिस्तर पर जाते हैं और उनकी नींद उनकी आदतों में किस तरह एक बड़ा बदलाव लाती है।

शोधकर्ताओं ने इस स्टडी के लिए एमआईटी इंजीनियरिंग क्लास के 100 छात्रों को शामिल किया, जिन्हें फिटबिट दिए गए थे, जिसके बदले शोधकर्ताओं ने उनके गतिविधि का डाटा और सेमेस्टर के परिणाम के बीच सम्बन्ध प्राप्त किया।

आश्चर्यजनक निष्कर्षों में यह पाया गया कि यदि आप एक विशेष समय 2 के बाद बिस्तर पर जाते हैं, तो सात घंटे की नींद मिलने पर भी आपका प्रदर्शन नीचे जाना शुरू हो जाता है। अर्थात प्रदर्शन इस बात पर निर्भर नहीं करता है कि आप कितने घंटे सोएं हैं|

अध्ययन में उन लोगों के लिए स्कोर में कोई सुधार नहीं पाया गया, जिन्होंने एक बड़ी परीक्षा से पहले एक अच्छी रात की नींद प्राप्त करना सुनिश्चित किया।
प्रोफेसर ग्रॉसमैन ने कहा कि जब आप बिस्तर पर जाते हैं और यदि आपको एक निश्चित मात्रा में नींद आती है – मान लीजिए कि सात घंटे – इससे कोई मतलब नहीं है कि आपने सात घंटे की पूरी नींद ली, जब तक कि यह निश्चित समय से पहले ना हो, जैसे की 10 बजे, या 12 बजे, या 1 बजे, ”।

व्यायाम और शैक्षणिक प्रदर्शन के बीच कोई लिंक नहीं होता

सेमेस्टर के लिए 100 छात्रों के फिटबिट पहनने के अलावा, उन्होंने एक फिटनेस क्लास में उनमें से एक-चौथाई को भेजा। बाद में यह पाया गया कि उनका प्रदर्शन फिटनेस क्लास न जाने वाले छात्रों के प्रदर्शन से अलग नहीं है।

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter