Latest News
News

82 चंद्रमाओं के साथ शनि ग्रह ने बृहस्पति को पीछे छोड़ा

October 8, 2019

चन्द्रमा के मामले में शनि (सैटर्न) ग्रह ने बृहस्पति (जुपिटर) को पीछे छोड़ दिया है|हालहीं में शनि ग्रह के चारों ओर बीस नए चंद्रमा पाए गयें|जिसके साथ ही शनि ग्रह के अब कुल 82 चन्द्रमा हो गयें हैं जबकि बृहस्पति ग्रह के कुल 79 चन्द्रमा हैं|

हमारे सौर मंडल के सबसे बड़े ग्रह बृहस्पति का अभी भी सबसे बड़ा चंद्रमा है। बृहस्पति का गैनीमेड पृथ्वी के आकार का लगभग आधा है। इसके विपरीत, शनि के 20 नए चंद्रमा माइनसक्यूल बमुश्किल 5 किमी व्यास के हैं।

शेपर्ड और उनकी टीम ने गर्मियों में शनि के 20 नए चंद्रमाओं को देखने के लिए हवाई में एक दूरबीन का उपयोग किया। उन्होंने कहा कि लगभग 100 टिनियर चंद्रमा भी शनि की परिक्रमा कर रहे हैं, लेकिन अभी भी वह खोजे जाने का इंतजार कर रहे हैं।

खगोलविदों ने शनि के चारो ओर 5 किलोमीटर और बृहस्पति के चारों ओर 1.6 किलोमीटर तक छोटे चंद्रमाओं की खोज को बहुत हद तक पूरा किया है। इसके अलावां भविष्य में कुछ और भी छोटा देखने के लिए बड़ी दूरबीनों की जरूरत होगी।

शनि के नए चंद्रमाओं में से सत्रह चन्द्रमा ग्रह के विपरीत, या प्रतिगामी, दिशा में चक्कर लगाते हैं।अन्य तीन चन्द्रमा उसी दिशा में चक्कर लगतें हैं जिस दिशा में शनि घूमता है। वे शनि से इतने दूर हैं कि एक एकल कक्षा को पूरा करने में दो से तीन साल लगते हैं।

भारत की सबसे पुरानी मॉडर्न यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी
भारत की सबसे पुरानी आधुनिक यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter