Latest News
News

प्रति 1 लाख जनसंख्या पर क्राइम के मामले में दिल्ली सबसे ऊपर

October 23, 2019

नेशनल क्राइम रिकार्ड्स ब्यूरो द्वारा जारी साल 2017 के रिपोर्ट के मुताबिक़ देश में 3,59,849 केस महिलाओं से सम्बंधित क्राइम का था|जिसमे कि उत्तरप्रदेश 56,011 केसेज के साथ टॉप पर था जबकि महाराष्ट्र 31,979 केसेज और वेस्टबंगाल 30,002 केस के साथ क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर था|

2017 में साइबर अपराधों की 21,000 से अधिक घटनाएं दर्ज की गईं, जबकि पिछले वर्ष में 12,317 ऐसे मामले सामने आए थे। वहीं इनमें महिलाओं की से सम्बंधित साइबर अपराधों की संख्या 4,242 थी।

रिपोर्ट के मुताबिक,”राज्य के खिलाफ अपराध” के रूप में दर्ज मामलों में 30फीसदी का इज़ाफा हुआ है। 2016 में दर्ज किए गए 6,986 मामलों की तुलना में 2017 में दर्ज किए गए मामलों की कुल संख्या 9,013 हो गई थी। इन मामलों की अधिकतम संख्या हरियाणा (2,576), उत्तर प्रदेश ( 2,055) और तमिलनाडु में 1,802 दर्ज की गई।

हालांकि, प्रति 1 लाख जनसंख्या पर क्राइम के मामले में दिल्ली सबसे ऊपर है, केरल दूसरे स्थान पर है।

दूसरी तरफ दंगों की 58,880 घटनाएं हुईं, जिनमें से सबसे ज्यादा घटनाएं बिहार से – 11,698, इसके बाद उत्तर प्रदेश – 8,990 और महाराष्ट्र से 7,743 में हुई।

महानगरों में होने वाले अपराधों के मामले में देश की राजधानी दिल्ली में 40.4 फीसदी आकड़ों के साथ अपराध की राजधानी के रूप में अपना रिकॉर्ड बनाए रखा। जबकि इसके बाद 8.9% के साथ बेंगलुरु, 7.2% के साथ मुंबई, और 3.6% के साथ चेन्नई का महानगरों में अपराध के आंकड़ों में योगदान रहा।

भारत की सबसे पुरानी मॉडर्न यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी
भारत की सबसे पुरानी आधुनिक यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter