Latest News
News

देश के दस सबसे प्रदूषित शहरों में उत्तर प्रदेश के आठ शहर

November 5, 2019

दिल्ली, दिल्ली के आस-पास और उत्तर भारत के कई शहरों में वायु प्रदूषण की हालत बद से बत्तर हो गई हैं|इन शहरों में हवा की क्वालिटी इतनी ख़राब हो गई है कि उसके लिए उन्हें हम जहरीले गैस का चैम्बर भी कह सकतें हैं|

इंडिया टुडे के मुताबिक औसत AQI की गणना 24 घंटे (3 नवंबर, शाम 4 बजे से 4 नवंबर, 4 बजे) के लिए की गई थी, जिसमें दिखाया गया था कि हरियाणा के जींद में 97 शहरों में सबसे जहरीली हवा का विश्लेषण किया गया था। जींद का औसत AQI 448 था।जबकि दिल्ली का औसत AQI 407 था।

कुल 15 शहरों में 400 के ऊपर औसत AQI था, जो सेंट्रल पॉलूशन कण्ट्रोल बोर्ड (CPCB) मानकों के अनुसार ‘गंभीर’ है।इन 15 शेरोन में 9 शहर उत्तर प्रदेश, 5 हरियाणा और दिल्ली है|

वहीं जींद के बाद टॉप-10 प्रदूषित शहरों में बागपत (AQI 440), गाजियाबाद (440), हापुड़ (436), लखनऊ (435), मुरादाबाद (434), नोएडा (430), ग्रेटर नोएडा (428) और कानपुर (427) और सिरसा (426) का स्थान आता है।

CPCB मानकों के मुताबिक 0 से 50 को अच्छा,51 से 100 को संतोषजनक,101 से 200 को मॉडरेट,201 से 300 को ख़राब,301 से 400 तक को बहुत ख़राब और 400 से ऊपर AQI को गंभीर बताया गया है|

भारत में ‘अच्छी’ वायु गुणवत्ता वाले केवल चार शहर हैं, जिनमें से दो केरल में हैं। केरल के कोच्चि के एक उपनगर एलोर ने 25 की एक्यूआई के साथ सबसे अच्छी हवा की गुणवत्ता दर्ज की। एलोर के बाद मुंबई के पास ठाणे (AQI 45), केरल में तिरुवनंतपुरम (AQI 49) और राजस्थान में कोटा (AQI 50) सबसे अच्छी वायु गुणवत्ता वाला शहर है।

भारत की सबसे पुरानी मॉडर्न यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी
भारत की सबसे पुरानी आधुनिक यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter