Latest News
News

Survey: उत्त्तर प्रदेश में लोगों में उच्च तनाव का प्रमुख कारण वित्तीय कठिनाइयां

November 12, 2019

हाल ही में हुए एक सर्वे के मुताबिक उत्तर प्रदेश में तनाव की घटना अधिक है, लेकिन तनाव प्रबंधन के बारे में जागरूकता कम है।किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (KGMU) के मनोचिकित्सा विभाग द्वारा किए गए एक हालिया सर्वेक्षण में पाया गया है कि वित्तीय कठिनाइयों के साथ उत्तर प्रदेश में लोगों में तनाव की प्रबलता बहुत अधिक थी।

मनोचिकित्सा विभाग में एक फैकल्टी मेंबर के अनुसार, केजीएमयू सर्वेक्षण में पाया गया कि सर्वेक्षण में शामिल केवल एक-चौथाई लोग, स्वास्थ्य सुविधाओं या तनाव संबंधी विकारों के प्रबंधन के बारे में जानते थे।

डॉ. प्रकृति पोद्दार जो कि पोद्दार वेलनेस लिमिटेड में मानसिक स्वास्थ्य के विशेषज्ञ और निदेशक हैं उन्होंने कहा कि बड़े शहरों में तनाव के प्रमुख कारण कठिन परिश्थितियां और पेशेवर चुनौतियां हैं बावजूद कि छोटे शहरों में वित्तीय कठिनाइयां इसका प्रमुख कारण बनतें हैं।

दुर्भाग्य से, छोटे शहरों में, लोगों को यह भी पता नहीं है कि तनाव से निकलने वाले मानसिक विकारों से निपटने के लिए कैसे और कहां मदद लेनी है। डॉ. पोद्दार ने कहा कि इसके लिए स्वास्थ्य सुविधाओं की उपलब्धता भी कम है, इसके अलावा, मानसिक विकारों से जुड़ी तबूज लोगों को मनोचिकित्सकों और मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मदद लेने से रोकती हैं।

इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक मुख्य रूप से राज्य के छोटे शहरों में 12,000 उत्तरदाताओं पर किए गए सर्वेक्षण में पाया गया कि 90% लोगों ने गरीबी और वित्तीय कठिनाइयों के कारण पिछले एक साल में तनाव का अनुभव किया था।

सर्वेक्षण चार जिलों – मुजफ्फरनगर, झांसी, महराजगंज और लखीमपुर खीरी में किया गया था।

भारत की सबसे पुरानी मॉडर्न यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी
भारत की सबसे पुरानी आधुनिक यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter