Latest News
News

बीएड की डिग्री के साथ इंजीनियरिंग ग्रेजुएट तमिलनाडु के स्कूलों में गणित पढ़ा सकते हैं

December 11, 2019

अब से इंजीनियरिंग ग्रेजुएट्स बीएड की डिग्री के साथ तमिलनाडु के सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में छठीं से आठवीं कक्षा को पढ़ाने के लिए एलिजिबल हैं|3 दिसंबर को सरकार के आदेश के अनुसार, उच्चतर शिक्षा विभाग ने सार्वजनिक सेवाओं में रोजगार के उद्देश्य से बीटी सहायक (मैथमैटिक्स) (ग्रेजुएट टीचर) के पद के लिए बीएड के साथ बीई (किसी भी विषय) को एक्विवैलेन्स रखा है।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया (TOI) से प्राप्त आकड़ों के मुताबिक पिछले चार वर्षों में, 3778 इंजीनियरिंग ग्रेजुएट्स तमिलनाडु के 719 कॉलेजों में बीएड पाठ्यक्रम में शामिल हुए।

इंजीनियरिंग ग्रेजुएट्स के बीच बेरोजगारी को कम करने के लिए, नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजुकेशन (NCTE) ने 2015 में दो साल के बीएड डिग्री कोर्स में जाने के लिए BE ग्रेजुएट्स को अनुमति देने वाले मानदंडों में ढील दी थी।

अकेले 2019-20 के प्रवेश सत्र के दौरान, राज्य भर में 1881 बीई ग्रेजुएट बीएड डिग्री में शामिल हुए।

पी राजलिंगम, राज्य सचिव, टीईटी क्वालिफाइड ग्रेजुएट एंड सेकेंडरी ग्रेड टीचर्स एसोसिएशन ने कहा कि अब तक, 80,000 से अधिक टीईटी (शिक्षक पात्रता परीक्षा) योग्य शिक्षक बेरोजगार हैं। सरकारी स्कूलों में अधिशेष पदों के कारण इंजीनियरिंग ग्रेजुएट्स को शिक्षकों की नौकरी मिलना मुश्किल होगा|

उन्होंने यह भी बताया कि इंजीनियरिंग ग्रेजुएट केवल चार पेपरों का अध्ययन कर रहे हैं जबकि बीएससी मैथमैटिक्स ग्रेजुएट को 15 प्योर मैथ सब्जेक्ट को क्लियर करना होता है।

भारत की सबसे पुरानी मॉडर्न यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी
भारत की सबसे पुरानी आधुनिक यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter