Latest News
News

NCRB Data:देश भर में औसतन रोजाना 80 हत्याएं, 289 अपहरण और 91 बलात्कार

January 10, 2020

साल 2018 में देश भर में औसतन रोजाना 80 हत्याएं, 289 अपहरण और 91 बलात्कार की रिपोर्टें दर्ज की गईं, राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) ने अपनी रिपोर्ट ‘2018 में भारत में अपराध’, बुधवार को जारी किया|

आंकड़े के अनुसार 2018 में कुल 50,74,634 संज्ञेय अपराधों में 31,32,954 मामले भारतीय दंड संहिता के तहत और 19,41,680 मामले विशेष एवं स्थानीय कानून के तहत अपराध की श्रेणी में दर्ज किए गए जबकि 2017 में यह संख्या 50,07,044 थी। संज्ञेय अपराध या मामला वह होता है जिसके संबंध में पुलिस थाना प्रभारी मजिस्ट्रेट के आदेश के बिना जांच कर सकता है|जबकि 2018 और 2017 के दौरान हत्या के मामले में 1.3 का इजाफा हुआ।

एनसीआरबी के अनुसार 2018 में अपहरण के मामलों में 10.3 प्रतिशत का इजाफा हुआ और इस संबंध में 1,05,734 प्राथमिकीयां दर्ज की गईं जबकि 2017 में ऐसे 95,893 मामले दर्ज किए गए और 2016 में यह संख्या 88,008 रही।

2018 में ‘महिलाओं के खिलाफ अपराध’ श्रेणी के तहत दर्ज मामलों की संख्या 3,78,277 थी, 2017 में 3,59,849 और 2016 में 3,38,954 थी। आईपीसी की धारा 376 में परिभाषित बलात्कार के मामलों की संख्या 2018 में 33,356 थी।

आकड़ों के मुताबिक 2017 में, 32,559 बलात्कार के मामले दर्ज किए गए थे, जबकि 2016 में यह संख्या 38,947 थी।

देश की आबादी के 16.9 प्रतिशत हिस्से के साथ सबसे अधिक आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश में आत्महत्या से होने वाली मौतों की तुलनात्मक रूप से कम प्रतिशत हिस्सेदारी की रिपोर्ट दर्ज की गई, जहाँ 2018 में देश में कुल आत्महत्याओं का केवल 3.6 प्रतिशत है। संघ शासित प्रदेशों की बात करें तो दिल्ली में सबसे अधिक आत्महत्याएं (2,526) दर्ज की गई, इसके बाद पुडुचेरी (500) का स्थान है।

एनसीआरबी, केंद्रीय गृह मंत्रालय के तहत, भारतीय दंड संहिता और देश में विशेष और स्थानीय कानूनों द्वारा परिभाषित अपराध आंकड़ों को एकत्र करने और उनका विश्लेषण करने के लिए जिम्मेदार है।

भारत की सबसे पुरानी मॉडर्न यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी
भारत की सबसे पुरानी आधुनिक यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter