Latest News
News

डिमॉक्रेसी इंडेक्स:भारत 10 पायदान नीचे खिसकर अब 51वें स्थान पर, भारत को बताया गया त्रुटिपूर्ण लोकतंत्र

January 23, 2020

‘द इकनॉमिस्ट इंटेलिजेंस यूनिट (ईआईयू)  ने 22 जनवरी को लोकतंत्र सूचकांक की वैश्विक सूची जारी की, जिसमे दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र यानी भारत को त्रुटिपूर्ण लोकतंत्र बताया है| डिमॉक्रेसी इंडेक्स की इस सूची में भारत 10 पायदान निचे खिसकर 51वें स्थान पर आ गया है|
संस्था ने दावा किया है कि भारत में नागरिक स्वतंत्रता में गिरावट आई है। सूची के मुताबिक भारत का कुल अंक 2018 में 7.23 था जो अब घटकर 6.90 रह गया है।

इस इंडेक्स में 165 स्वतंत्र देशों को उनके कुल अंकों के आधार पर चार प्रकार के शासन में वर्गीकृत किया जाता है:- पूर्ण लोकतंत्र (8 से ज्यादा अंक हासिल करने वाले), त्रुटिपूर्ण लोकतंत्र (6 से ज्यादा लेकिन 8 या 8 से कम अंक वाले), संकर शासन (4 से ज्यादा लेकिन 6 या 6 से कम अंक हासिल करने वाले) और सत्तावादी शासन (4 या उससे कम अंक वाले)। 

इस सूची में पहले स्थान पर नॉर्वे का नाम है। उसके बाद आइसलैंड और स्वीडन का नंबर आता है। शीर्ष 10 में अन्य देशों में चौथे स्थान पर न्यूजीलैंड, फिनलैंड (5वें), आयरलैंड (6वें), डेनमार्क (7वें), कनाडा (8वें), ऑस्ट्रेलिया (9वें) और स्विट्जरलैंड (10वें) शामिल हैं। 

इस सूची में उत्तर कोरिया 167 वें स्थान पर वैश्विक रैंकिंग में सबसे नीचे है।वहीं 2019 के इंडेक्स में चीन का स्कोर गिरकर 2.26 हो गया है और वह वैश्विक रैंकिंग में अब 153 वें स्थान पर है| जबकि रूस 3.11 अंक के साथ सूची में 134वें स्थान पर है।

हमारे पड़ोसी देशों में पकिस्तान 4.25 अंकों साथ 108वें स्थान पर है, श्रीलंका 6.27 अंकों के साथ 69वें और बांग्लादेश 5.88 अंकों के साथ 80वें स्थान पर है। 

भारत की सबसे पुरानी मॉडर्न यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी
भारत की सबसे पुरानी आधुनिक यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter