Latest News
News

UP बोर्ड की परीक्षाओं में कड़ाई के चलते रजिस्ट्रेशन में आई दो लाख़ की कमी

February 10, 2020

योगी सरकार के प्रदेश में नक़ल रोकने के लिए उठाये गए व्यापक कदमों ने पिछले दो वर्षों के दौरान यूपी बोर्ड की परीक्षाओं को प्रभावित किया है। यूपी बोर्ड मुख्यालय के नवीनतम आंकड़े के मुताबिक पिछली बार की तुलना में 2020 की परीक्षा के लिए कुल रजिस्ट्रेशन में लगभग 2 लाख की कमी आई है|वहीं, 2019 की बोर्ड परीक्षाओं में, 2018 की तुलना में 8 लाख कम रजिस्ट्रेशन दर्ज किए गए थे।
सरकार के नकल माफियाओं का मुकाबला करने के लिए उठाये गए क़दमों में वॉयस-रिकॉर्डर लगे सीसीटीवी कैमरों के उपयोग को अहम माना गया था|

योगी सरकार के 2017 में सत्ता में आने के साथ ही उस साल मार्च में शुरू हुई परीक्षाओं में सामूहिक नकल को रोकने के लिए कड़े कदम उठाए गए थे। जिसके चलते 1, 32,475 कक्षा 12 के स्टूडेंट्स और 4, 03,019 कक्षा 10 के स्टूडेंट सहित 5, 35,494 स्टूडेंट्स ने परीक्षा बीच में ही छोड़ दी थी।

गौरतलब है कि साल 2016 में 2018 में होने वाले बोर्ड एग्जाम के लिए 9वीं और 11वीं के 66, 39,268 स्टूडेंट्स ने रजिस्ट्रेशन किया था|लेकिन सरकार के नक़ल रोकने के प्रति सख्त रवैये के चलते 2017 में 2019 के बोर्ड एग्जाम के लिए यह संख्या गिरकर 57,95,756 पर पहुंच गया था|वहीं, 2020 की परीक्षा के लिए, कुल रजिस्ट्रेशन की संख्या 56, 07,118 पर आ गई है। 

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter