Latest News
Articles

GATE-2020 में 18.8 फीसदी स्टूडेंट्स हुए क्वालीफाई, आगे क्या है करियर विकल्प?

March 18, 2020

ग्रेजुएट एप्टीटुड टेस्ट इन इंजीनियरिंग (GATE-2020) का परिणाम जारी किया जा चुका है| जहाँ इस साल 18.8 फीसदी स्टूडेंट्स ने एग्जाम क्वालीफाई किया है| ये सफल स्टूडेंट्स हायर एजुकेशन या पब्लिक सेक्टर/जॉब के रास्ते अपना करियर प्लान करेंगे|

इंजीनियरिंग / टेक्नोलॉजी /आर्किटेक्चर में मास्टर प्रोग्राम और डायरेक्ट डॉक्टरेट प्रोग्राम में एडमिशन और वित्तीय सहायता प्राप्त करने के लिए GATE एग्जाम से होकर गुजरना अनिवार्य है|वहीं एमएचआरडी और अन्य सरकारी एजेंसियों द्वारा समर्थित संस्थानों में, साइंस के अलग-अलग ब्रांचेस में डॉक्टरेट प्रोग्राम के लिए भी GATE को अनिवार्य रखा गया है|

हालांकि स्कालरशिप या वित्तीय सहायता के लिए स्टूडेंट्स को किसी सेंट्रल गवर्नमेंट सपोर्टेड इंस्टिट्यूट में एडमिशन लेना होगा|जहाँ तक एडमिशन की बात करें तो कुछ इंस्टिट्यूट एडमिशन सीधे इंटरव्यू के जरिये लेते है तो कुछ टेस्ट और इंटरव्यू दोनों के माध्यम से|

टेस्ट / इंटरव्यू आधारित चयन प्रक्रिया में, MHRD दिशानिर्देशों के अनुसार, GATE में परफॉरमेंस के लिए न्यूनतम 70% वेटेज दिया जाएगा और शेष टेस्ट / इंटरव्यू और / या अकादमिक रिकॉर्ड में कैंडिडेट्स के परफॉरमेंस पर निर्भर करेगा।

गेट के स्कोर के आधार पर कई पब्लिक सेक्टर यूनिट (PSUs) स्टूडेंट्स को इंटरव्यू के लिए आमंत्रित करतीं हैं|इन पब्लिक सेक्टर यूनिट में भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (BHEL), गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (GAIL), हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL), इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (IOCL), नेशनल थर्मल पावर कॉर्पोरेशन (NTPC), न्यूक्लियर पावर कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (NPCIL), ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉर्पोरेशन (ONGC) और पावर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (PGCI) जैसे आर्गेनाईजेशन शामिल हैं।

केंद्र सरकार के कैबिनेट सचिवालय में समूह ए सीनियर फील्ड ऑफिसर (Tele), सीनियर रिसर्च ऑफिसर (Crypto) और सीनियर रिसर्च ऑफिसर (S&T) के स्तर की भर्ती गेट स्कोर के आधार पर की जाएगी|

आपको बता दें कि गेट का स्कोर रिजल्ट जारी होने के डेट से तीन साल तक के लिए वैलिड होता है|

इस बार IIT दिल्ली ने 25 विषयों में परीक्षा का आयोजन किया था| जिनके कटऑफ मार्क्स इस प्रकार हैं:-

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter