Latest News
News

3 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, 30 अप्रैल की जगह 3 मई तक लॉकडाउन के पीछे की क्या है वजह?

April 14, 2020

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार सुबह 10 बजे राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाने की घोषणा की|

प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों से अपील की कि वो अनुशासन का पालन करें, हॉटस्पॉट पर नज़र रखें क्योंकि नए हॉटस्पॉट नहीं बनने देने हैं|स्थानीय स्तर पर अब एक भी मरीज बढ़ता है तो ये हमारे लिए चिंता का विषय होना चाहिए|

उन्होंने बताया कि 20 अप्रैल तक के लिए और सख़्ती की जाएगी और साथ ही देश के हर गली, मोहल्ले को बारीकी से परखा जाएगा कि लॉकडाउन का कैसे पालन हो रहा है और जहां कोरोना वायरस के मामले नहीं होंगे, उन इलाक़ों को कुछ शर्तों के आधार पर छूट दी जाएगी|आपको बता दें कि कल इस बारे में सरकार की तरफ से एक विस्तृत गाइडलाइन जारी की जाएगी|

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण में किसानों का भी ज़िक्र किया|उन्होंने कहा कि रबी फसल की कटाई और कुछ कृषि गतिविधियां किसान चालू रखें|

उन्होंने कहा कि देश के पास इस समय एक लाख से अधिक बेड हैं और 600 से अधिक अस्पताल केवल कोरोना वायरस पर ही काम कर रहे हैं|

मीडिया में इससे पहले तक लॉकडाउन बढ़ाने की नई तारीख़ 30 अप्रैल दी जा रही थी| दरअसल लॉकडाउन को 30 अप्रैल की जगह 3 मई तक बढ़ाने के पीछे लॉजिक यह है कि 30 अप्रैल को गुरुवार है और अगले दिन शुक्रवार को 1 मई को पब्लिक हॉलीडे है| वहीं बाकी अगले दो दिन वीकेंड शनिवार और रविवार है. जिस वजह से प्रधानमंत्री ने 30 अप्रैल के बजाए इसे 3 दिन अधिक लॉकडाउन करने का फैसला लिया|

लॉकडाउन पार्ट-2 के लिए प्रधानमंत्री ने लोगों से 7 बातों में साथ मांगा है: –

१. लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग की लक्ष्मण रेखा को न लाघें, घर में बने मास्क का इस्तेमाल करें.

२. बुज़ुर्गों का ख़ास ख़याल रखें, जिनको दूसरी बीमारियां हैं उन पर अधिक ध्यान दें.

3. आयुष मंत्रालय द्वारा सुझाए गए उपायों से इम्युनिटी बढ़ाएं.

4. आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप ज़रूर डाउनलोड करें.

5. जितना हो सके ग़रीब परिवारों की देखरेख करें.

6. व्यवसाय-उद्योग में काम करने वालों को नौकरी से न निकालें.

7. कोरोना योद्धाओं जैसे कि स्वास्थ्यकर्मी, सफ़ाईकर्मी, पुलिस, सुरक्षाबल आदि का सम्मान करें, आदर करें और उनका गौरव बढ़ाएं.

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter