Latest News
Articles

रोबोटिक्स के क्षेत्र में बढ़ती जॉब की संभावनाएं

April 20, 2019

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग, इंजीनियरिंग की वह शाखा है जिसमे इंजीनियरिंग के कई दूसरे विषय मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, कंप्यूटर साइंस भी सम्मलित होते हैं|

रोबोटिक्स के तहत रोबोट की डिजाइनिंग, उनका अनुरक्षण, एप्लिकेशन, विकास और अनुसंधान जैसे काम किये जाते हैं। रोबोट एक मशीन है जो इंसानों का काम इंसानों से कई गुना तेजी से करता है|भारीभरकम और जटिल कामों को कम समय में और आसानी से करने के लिए रोबोट की आवश्यकता होती है| रोबोटिक्स की दुनिया में जापानीयों ने काफी हद तक महारत हासिल की हुई है| क्योकि विश्व के आधे से ज्यादा रोबोट जापान में है|

रोबोटिक्स को सामान्यतः निम्नलिखित वर्गों में बांटा जा सकता है। वो ये हैं- औद्योगिक रोबोट, पर्सनल रोबोट, मेडिकल उपयोग के लिए रोबोट तथा ऑटोनोमस रोबोट,डिफेन्स में इस्तमाल किये जाने वाले रोबोट। इनमें सबसे बड़ी श्रेणी औद्योगिक रोबोट्स की है, जो साधारण प्रोग्राम योग्य रोबोट होते हैं, जिनका इस्तेमाल मैन्युफैक्चरिंग संयंत्रों में बहुतायात में होता है।

रोबोटिक्स ने दुनिया में एक डर भी पैदा कर दिया है वो है रोजगार का, आज रोबोट्स ने औद्योगिक क्षेत्र में पैर पसारना शुरू कर दिया है| कंपनियां मैन पॉवर की जगह रोबोट्स का इस्तमाल कर रहीं हैं या करने को तत्पर हैं| हालांकि उद्योगों के रोबोटीकरण के चलते रोबोटिक्स के क्षेत्र में जॉब की संभावनाएं काफी हद तक बढीं है| इसके अलावा डिफेंस के क्षेत्र में भी रोबोट का इस्तमाल किया जा रहा है|

रोबोट का बड़े पैमाने पर इस्तमाल आजकल खुदाई और उत्खनन जैसी मुश्किल और इंसानों के लिए अनुपयुक्त जगहों पर ज्यादा किया जा रहा है।

कोर्सेज:

रोबोटिक्स में लॉन्ग टर्म रिसर्च ओरिएंटेड कोर्स के साथ-साथ कुछ स्पेशलाइजेशन कोर्स भी ऑफर किये जाते हैं| इन स्पेशलाइजेशन कोर्सेज में ऑर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, रोबोटिक्स, एडवांस्ड रोबोटिक्स सिस्टम जैसे कोर्स शामिल हैं| स्पेशलाइजेशन के लिए पोस्ट ग्रेजुएट लेवल कोर्स भी कर सकते हैं। इन कोर्सेज में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस,कंप्यूटर इंटीग्रेटेड मैन्युफैक्चरिंग,कंप्यूटेशनल जियोमेट्री, रोबोट मोशन प्लानिंग, डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक्स ऐंड माइक्रो-प्रोसेसर, रोबोट मैनिपुलेटर जैसे विषयों के बारे में पढ़ाया जाता है|

भारत में इसकी पढ़ाई करने के लिए इंस्टीट्यूट:

IIT Delhi

IIT Kanpur

IIIT Hyderabad

IIT Madras

IIT Roorkee

करियर:

वे स्टूडेंट्स जिन्होंने रोबोटिक्स टेक्नोलॉजी की पढ़ाई टेक्निकल स्कूल या कॉलेज से किया है वे रोबोट टेक्नोलॉजी, कंप्यूटर कंट्रोल्ड मशीन प्रोग्रामिंग, रोबोटिक सेल्स में नौकरी पा सकते हैं| यह एक उभरता हुआ क्षेत्र है, जहां आने वाले समय में काफी जॉब पैदा होने की संभावना है| वैसे तो इस क्षेत्र में स्किल्ड लोग लाखों रूपये कमा सकते हैं| काम के लिहाज से इस क्षेत्र को तीन लेवल रोबोटिक साइंटिस्ट, रोबोटिक इंजीनियर और रोबोटिक टेक्नीशियन में बाटा गया है|

एलिजिबिलिटी:

रोबोटिक्स फील्ड में करियर बनाने के लिए इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल और कंप्यूटर साइंस की अच्छी नॉलेज होनी चाहिए। आमतौर पर मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, इंस्ट्रूमेंटेशन, कंप्यूटर साइंस से ग्रेजुएशन कर चुके स्टूडेंट्स इस कोर्स के लिए योग्य माने जाते हैं।

भारत की सबसे पुरानी मॉडर्न यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी
भारत की सबसे पुरानी आधुनिक यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter