Latest News
News

वित्त मंत्री ने इन आठ क्षेत्रों में आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत की घोषणा

May 16, 2020

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज लगातार चौथे दिन कॉन्फ्रेंस कर आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत दी जाने वाली चौथी क़िस्त का ऐलान किया|इससे पहले हुई तीन प्रेस कॉन्फ़्रेंस में उन्होंने एमएसएमई, प्रवासी मज़दूर, कृषि और पशुपालकों के लिए अहम घोषणाएं की थीं|

वित्त मंत्री ने कोयला, खनिज, रक्षा उत्पादन, सामाजिक बुनियादी ढांचा, एयरोस्पेस मैनेजमेंट, बिजली वितरण, स्पेस सेक्टर और परमाणु ऊर्जा के क्षेत्र में सुधारों की घोषणा की।

कोयला : –

कोयला खनन में कमर्शियल गतिविधि के लिए छूट दी जाएगी ताकि सरकारी एकाधिकार ख़त्म हो

खनन इन्फ़्रास्ट्रक्चर तैयार करने के लिए 50,000 करोड़ सरकार देगी

 50 नए कोयला ब्लॉक खनन के लिए नीलाम होंगे

खनिज पदार्थ

खनिज पदार्थ क्षेत्र में 500 माइनिंग ब्लॉक की नीलामी की जाएगी

बॉक्साइट और कोयले के ब्लॉक की साथ में नीलामी होगी

डिफ़ेंस विनिर्माण

ऑर्डिनेंस फैक्टरी बोर्ड का कॉरपोरेटाइजेशन किया जाएगा। 

ऑर्डिनेंस फ़ैक्ट्री शेयर मार्केट में लिस्टेड की जाएगी|

रक्षा निर्माण में एफ़डीआई लिमिट को 49 फ़ीसदी से बढ़ाकर 74 फ़ीसदी कर दिया जाएगा|

जो हथियार भारत में ही ख़रीदे जा सकते हैं उनके लिए अलग से बजट की व्यवस्था की जाएगी ताकि आयात बिल कम हो

एयरोस्पेस मैनेजमेंट

देश में पीपीपी के तहत 6 नए हवाई अड्डे विकसित किए जाएंगे। 

पहले और दूसरे चरण में 12 हवाई अड्डों में 13 हजार करोड़ रुपए का निवेश आएगा।

बिजली वितरण क्षेत्र

केंद्र शासित प्रदेशों में बिजली वितरण का निजीकरण किया जाएगा|

इससे बिजली क्षेत्र में स्थिरता आएगी। बिजली उत्पादन कंपनियों को समय पर भुगतान हो सकेगा। साथ ही सब्सिडी डीबीटी के माध्यम से दी जाएगी|

स्पेस सेक्टर

स्पेस सेक्टर में निजीकरण को बढ़ावा दिया जाएगा|

निजी क्षेत्र की कंपनियों को इसरो के संसाधन इस्तेमाल करने का प्रावधान किया जाएगा

एटॉमिक एनर्जी 

एटॉमिक क्षेत्र में पीपीपी के ज़रिए रिसर्च रिएक्टर में शोध को बढ़ावा दिया जाएगा|

सामाजिक बुनियादी ढांचा

सोशल बुनियादी ढांचे में 8100 करोड़ रुपये का प्रावधान किया जाएगा|

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter