Latest News
News

40% ट्रैवल और टूरिज्म कंपनियां अगले 3 से 6 महीनों में पूरी तरह से बंद होने के कगार पर

May 25, 2020

एक रिपोर्ट में कहा गया है कि ट्रैवल और टूरिज्म क्षेत्र में काम करने वाली लगभग 40% कंपनियां अगले 3 से 6 महीनों में पूरी तरह से बंद होने का खतरा देख रही हैं,जबकि 35.7 प्रतिशत कंपनियों के अस्थायी रूप से बंद होने की संभावना है|

आईओटीओ, टीएएआई, आईसीपीबी, एडीटीओआई, ओटीओएआई, एटीओएआई और एसआईटीईई जैसे सात नेशनल एसोसिएशन की साझेदारी में बीओटीटी ट्रैवल सेंटीमेंट ट्रैकर ने यह रिपोर्ट जारी किया है|

BOTT ट्रैवल सेंटीमेंट ट्रैकर सर्वे 10 दिनों की अवधि में 2,300 से अधिक ट्रैवल और टूरिज्म बिज़नेस मालिकों और कंपनी के प्रतिनिधियों के साथ ऑनलाइन किया गया था।

रिपोर्ट के मुताबिक 81% यात्रा और पर्यटन कंपनियों ने अपना रेवेन्यू 100% तक खो दिया है, जबकि 15% कंपनियों में 75 फीसदी की गिरावट आई है।

सर्वे की रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि 38.6% ट्रैवल कंपनियां जॉब कट्स के लिए जा रही हैं और अन्य 37.6% कंपनियां अनिश्चितता के साथ बड़े विकल्प का विचार कर रही हैं।

सर्वेक्षण के अनुसार, 73% ट्रैवल कंपनियां वेतन में कटौती, कॉन्ट्रैक्ट को समाप्त करने सहित वर्क फोर्स के समायोजन के तरफ रुख की हैं, जबकि 67% ओवरहेड्स में कमी जैसे कदमों के लिए गए हैं।

दूसरी तरफ लगभग 49% अपनी कैपिटल एक्सपेंडिचर को रोक रहे हैं और 41.6% कंपनियां नई सेवाओं की शुरुआत कर रही हैं।

हिंदू में छपी खबर के मुताबिक लगभग 67.7 फीसदी कंपनियां चाहती हैं कि सरकार लागू जीएसटी दरों को 5% कम करे और क्रमशः 54.2% और 49.3% कंपनियों और पेशेवरों के मूलधन की ईएमआई चुकाने और 12 महीनों के लिए सावधि ऋण के ब्याज पर छूट और 1 साल के लिए टीडीएस जमा राशि में कटौती करना चाहती है।

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter