Latest News
News

कोविड-19 के इलाज को लेकर मिली अहम जानकारी,गंभीर रूप से बीमार मरीज़ों को मिलेगी इससे मदत

May 27, 2020

दुनियाभर में कई मेडिकल संस्थान कोरोना वायरस के वैक्सीन पर काम कर रहे हैं| इस बीच हर रोज इस वायरस को लेकर कई सारी जानकारियां सामने आ रही हैं|जिसमे एक जानकारी यह निकलकर आई है कि कोविड-19 से गंभीर रूप से बीमार लोगों में रोग प्रतिरोधक कोशिकाओं (इम्यून सेल या टी-सेल) की संख्या कम हो जाती है|

अच्छी बात यह कि ब्रिटेन में डॉक्टरों ने इसपर एक क्लिनिकल ट्रायल शुरू कर दिया है|हो सकता है कि कोविड-19 से गंभीर रूप से बीमार मरीज़ों को इससे काफी मदद मिले|

बीबीसी में छपी ख़बर के मुताबिक इस क्लिनिकल ट्रायल में किंग्स कॉलेज लंदन के फ्रांसिस क्रिक इंस्टीट्यूट और गाएज़ एंड सेंट थोमस हॉस्पिटल के वैज्ञानिक शामिल होंगे, जो यह जानने की कोशिश करेंगे कि क्या कोविड-19 के मरीज़ों में इंटरल्यूकिन 7 नाम की दवा टी-सेल की संख्या बढ़ाने में मदद कर सकती है|

टी-सेल जिसे टी-लिम्फोसाइट्स भी कहा जाता है जो हमारे शरीर को बीमारियों से बचाता है|एक स्वस्थ्य वयस्क व्यक्ति के एक माइक्रोलीटर खून में आम तौर पर 2,000 और 4,000 टी-सेल होते हैं|लेकिन डॉक्टरों ने परीक्षण में पाया कि कोविड-19 के मरीज़ों में इन टी-सेल की संख्या 200 से 1,200 के बीच थी|

आपको बता दे कि इंटरल्यूकिन 7 का इस्तेमाल आम तौर पर दूसरी बीमारियों से जूझ रहे मरीज़ों में टी-सेल की संख्या बढ़ाने के लिए क्या जाता है|

डॉक्टरों के मुताबिक इस नई जानकारी के बाद अब कोरोना मरीज़ों के खून में टी-सेल की संख्या के लिए ‘ख़ास टेस्ट’ बनाया जा सकता है जिससे समय रहते ये पता चल सकेगा कि किन मरीज़ों में ये बीमारी और गंभीर रूप ले सकती है|साथ ही कम होते टी-सेल की संख्या बढ़ाने के लिए डॉक्टरों के पास इलाज की संभावना बनी रहेगी|

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter