Latest News
News

कोरोनिल: आयुष मंत्रालय ने कोरोना के इलाज के दावे वाली पतंजलि की दवा के जाँच होने तक विज्ञापन पर रोक लगाई

June 23, 2020

पतंजलि ने मंगलवार को ‘कोरोनिल टैबलेट’ और ‘श्वासारि वटी’ नाम की दो दवाएं लॉन्च की, जिनके बारे में कंपनी ने दावा किया है कि ये कोविड-19 की बीमारी का आयुर्वेदिक इलाज हैं|आयुष मंत्रालय ने पतंजलि की ओर से कोरोना की दवा खोज लेने के दावों को लेकर मीडिया में छपी रिपोर्ट पर संज्ञान लेते हुए साफ़ तौर पर कहा है कि कथित वैज्ञानिक अध्ययन के दावों की सच्चाई और विवरण के बारे में मंत्रालय को कोई जानकारी नहीं है|

बीबीसी के ख़बर के मुताबिक आयुष मंत्रालय ने पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड से दवा के नाम और उसमें इस्तेमाल होने वाले घटकों का विवरण,सैंपल साइज़, दवा को लेकर अध्ययन कहाँ या किस अस्पताल में हुआ के साथ ही क्या प्रोटोकॉल पालन किया गया के बारे में पूछा है|

वहीं मंत्रालय ने इंस्टीट्यूशनल एथिक्स कमेटी क्लियरेंस मिली है या नहीं, सीटीआरआई रजिस्ट्रेशन और अध्ययन से जुड़ा डेटा आदि के बारे में भी जानकारी माँगी है|

इसके साथ ही मंत्रालय ने उत्तराखंड सरकार के लाइसेंसिंग प्राधिकरण से दवा की लाइसेंस की कॉपी मांगी है और प्रोडक्ट के मंज़ूर किए जाने का ब्यौरा भी माँगा है|

मंत्रालय ने अपनी तरफ से साफ़ कह दिया है कि जब तक इन तमाम मामलों की जाँच नहीं हो जाती है, इस दवा से जुड़े दावों के बारे में प्रचार प्रसार पर रोक लगी रहेगी|

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter