Latest News
News

आज ही के दिन 25 जून 1983 को भारतीय क्रिकेट टीम ने उठाया था अपना पहला विश्व कप

June 25, 2020

25 जून, आज ही के दिन 37 बरस पहले भारतीय क्रिकेट टीम ने लॉर्ड्स के मैदान पर इतिहास रचा था| 25 जून, 1983 को भारत ने दो बार की चैंपियन वेस्ट इंडीज को हराकर पहली बार वर्ल्ड चैंपियन बनी थी|1983 वर्ल्ड कप के हीरो थे उस समय के भारतीय टीम के कप्तान कपिल देव|1983 के वर्ल्ड कप की बात आती है तो क्रिकेट प्रेमियों को आज भी याद है कप हाथ में थामे कपिल के चेहरे पर खिली मुस्कान।

भारत ने इंग्लैंड में लॉर्ड्स पर खेले गए 1983 विश्व कप फाइनल में मजबूत वेस्टइंडीज टीम को 43 रन से शिकस्त दी थी। उस मैच में भारतीय टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए 60 ओवर के मैच में पूरी टीम 54.4 ओवर ही खेल पाई और महज 183 रन पर ढेर हो गई। हालांकि, भारत का जवाबी हमला भी बेहद तगड़ा था। पूरी कैरेबियाई टीम को उन्होंने 52 ओवर में 140 रन पर समेट दिया।

फाइनल मैच में भारत की तरफ से श्रीकांत ने सर्वाधिक 38 रन बनाये थे जो कि दोनों टीमों का सर्वाधिक स्कोर था| मोहिंदर अमरनाथ को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया। उन्होंने 26 रन बनाने के साथ 3 विकेट लिए थे।  

1983 विश्व कप फाइनल जिताने में बड़ा टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ था मदनलाल की गेंद पर कप्तान कपिल देव का स्क्वायर लेग पर पीछे की तरफ भागते हुए लिया हुआ विवियन रिचर्ड्स का वो शानदार कैच|

1983 के वर्ल्डकप का दूसरा सबसे रोमांचक मुक़ाबला था 18 जून 1983 को जिम्बाब्वे के खिलाफ खेला गया मैच जिसे अगर भारतीय टीम हारती तो वह टूर्नामेंट से बाहर हो सकती थी|

इस मैच में पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम के 17 के स्कोर पर पांच विकेट गिर गए थे उसके बाद कपिल देव ने ऐतिहासिक 175 रनों की नाबाद पारी खेली और स्कोर को सम्मानजनक तक पहुंचाया|इतिहास में इससे पहले भारतीय वनडे क्रिकेट में किसी भी खिलाड़ी ने एक पारी में इतने रन नहीं बनाए थे|दुर्भाग्य की बात यह कि बीबीसी के हड़ताल की वजह से इस मैच को रिकॉर्ड नहीं किया जा सका था|

वर्ल्ड कप के तीसरे एडिशन में कुल 27 मैच हुए थे। जिनमे भारत ने 8 मैच खेले और 2 हारे।

इंग्लैंड रवाना होते समय टीम इंडिया के साथ ना तो कोई कोच था, ना ही कोई डॉक्टर और ना ही कोई फीजियोथेरेपिस्ट।वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की ट्रेनिंग सत्र के दौरान मोहिंदर अमरनाथ ने मुख्य कोच की भूमिका निभाई।

भारतीय टीम में शामिल प्रत्येक खिलाड़ी को पूरे दौरे के लिए 12,500-12,500 रुपये दिए गए थे।

भारतीय टीम को वर्ल्ड कप जीतने पर 20 हज़ार पाउंड की इनामी रकम मिली थी।

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter