Latest News
News

म्यांमार में मानवाधिकारों के उल्लंघन पर रिपोर्ट करने वाले दो पत्रकारों को ‘वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम प्राइज 2019’

May 4, 2019

वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम डे (अंतर्राष्ट्रीय पत्रकारिता स्‍वतंत्रता दिवस) पर इस साल का ‘वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम प्राइज’ जेल में बंद म्यांमार के दो पत्रकार ‘Wa Lone’ और ‘Kyaw Soe Oo को दिया गया | इन्होने म्यांमार के राखिन राज्य में हो रहे  मानवाधिकारों के उल्लंघन पर रिपोर्ट किया था |


‘Wa Lone’ और ‘Kyaw Soe Oo एक विश्वव्यापी समाचार संस्था ‘रॉयटर्स’ के पत्रकार हैं और वे म्यांमार में सात साल से जेल की सजा काट रहे हैं| उन पर मिलिट्री की क्रूर कार्रवाई और राखिन राज्य में रोहिंग्या मुसलमानों की हत्याओं पर उनकी पत्रकारिता की जाँच के लिए देश के सीक्रेट कानून तोड़ने का आरोप है|

इस पुरस्कार को UNESCO/Guillermo Cano World Press Freedom Prize के नाम से भी जाना जाता है जिसे हर साल UNESCO के डायरेक्टर जनरल के द्वारा वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम डे(विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस) पर दिया जाता है | अभिव्यक्ति की आजादी और प्रेस की स्वतंत्रता की अहमियत को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए ही विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस हर साल 3 मई को मनाया जाता है|

‘गिलर्मो कैनो वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम प्राइज’ कोलंबियाई पत्रकार गुइलेर्मो कैनो इसाज़ के सम्मान में दिया जाता है , वे कोलंबो के शक्तिशाली ड्रग बैरन के मुखर आलोचक थे| 17 दिसंबर 1986 को बोगोटा, कोलंबिया में उनके अखबार एल एस्पेक्टाडोर कार्यालय के सामने उनकी हत्या कर दी गई थी।

भारत की सबसे पुरानी मॉडर्न यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी
भारत की सबसे पुरानी आधुनिक यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter