Latest News
News

अप्रैल में WPI मुद्रास्फीति फिसलकर 3.07% पर, खाद्य कीमतें अभी भी बढ़ी हुई

May 14, 2019

14 मई को जारी एक आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, अप्रैल में सस्ते ईंधन और मनुफैक्टरिंग वस्तुओं पर थोक मूल्य -आधारित मुद्रास्फीति  घटकर 3.07% पर आ गई, जबकि खाद्य पदार्थों की कीमतें ऊँची रहीं।

थोक मूल्य सूचकांक- (WPI-) आधारित मुद्रास्फीति मार्च में 3.18% थी जबकि अप्रैल 2018 में यह 3.62% पर पहुंच गई ।

अप्रैल के दौरान सब्जियों की कीमतों में तेजी के साथ फ़ूड आर्टिकल में भी मुद्रास्फीति बढ़ी।

अप्रैल में सब्जियों की महंगाई दर 40.65% थी, जबकि पिछले महीने मार्च में यह आकड़ा 28.13% था |

खाद्य पदार्थ की महंगाई दर मार्च में 5.68% से बढ़कर अप्रैल में 7.37% दर्ज की गई ।

ईंधन और बिजली की श्रेणी में मार्च में महंगाई दर 5.41% से गिरकर अप्रैल में 3.84% पहुंच गई। मनुफैक्टरिंग वस्तुओं में भी अप्रैल में मुद्रास्फीति में 1.72% की गिरावट के साथ कीमतों में कमी देखी गई, जो मार्च में 2.16% थी।

अप्रैल-सितंबर की अवधि के लिए, RBI ने खुदरा मुद्रास्फीति का अनुमान 2.9-3% लगाया है,और यह मुख्य रूप से खाद्य पदार्थों और ईंधन की कम कीमतों के साथ-साथ सामान्य मानसून के चलते होगा ।

The hindu

भारत की सबसे पुरानी मॉडर्न यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी
भारत की सबसे पुरानी आधुनिक यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter