Latest News
News

देशभर के कई इंजीनियरिंग कॉलेजों में रह जा रहीं हैं सीट्स खाली, 1.6 लाख सीट्स में कटौती

May 22, 2019

इंजीनियरिंग कॉलेजों के परफॉरमेंस का ग्राफ साल दर साल गिरता ही जा रहा है | पिछले कुछ सालों से भारत के कई कॉलेजों में सीट्स खाली रह जाने के चलते हर साल इंजीनियरिंग के सीटों की संख्या में कुछ न कुछ कटौती की जा रही है |

एआईसीटीई ने देशभर के इंजीनियरिंग अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट कोर्सेज में लगभग 1.64 लाख के करीब सीटों की कटौती की है | AICTE ने उन कॉलेजों जिनमे 30 फीसदी सीटें खाली हैं उनकी 50 फीसदी सीट्स को कम कर दिया है|

रिपोर्ट के मुताबिक, देशभर के 2214 इंजीनियरिंग कॉलेजों में सीटों की संख्या में कुल 1.20 लाख की कमी आई है जिसका कारण कोर्सेज का बंद होना या कम इन्टेक है | जबकि देशभर में 83 इंजीनियरिंग कॉलेजों ने कॉलेज बंद करने के लिए आवेदन किया है, जिससे लगभग 20,539 सीटें घट सकतीं हैं| वहीं  14,423 सीटें स्वीकृतियों की वापसी के चलते कम हो गईं हैं  |

इंजीनियरिंग सीटों की कुल संख्या (यूजी एंड पीजी) पिछले साल के 15.87 लाख से घटकर इस साल 14.66 लाख हो गई है। जबकि  2014-15 के शैक्षिक वर्ष में, इंजीनियरिंग सीटों की कुल संख्या 19.01 लाख थी।

भारत की सबसे पुरानी मॉडर्न यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी
भारत की सबसे पुरानी आधुनिक यूनिवर्सिटी कलकत्ता यूनिवर्सिटी

Copyright © All Rights Reserved.

Subscribe to newsletter